घनसाली:- 18 साल बाद घर लौटा लापता जयबीर सिंह, बेटे की राह ताकते तब तक स्वर्ग सिधार गए माँ-बाप।

उत्तराखंड घनसाली टिहरी गढ़वाल ब्रेकिंग न्यूज

घनसाली:- विकासखंड भिलंगना की पट्टी ग्यारहगांव के ग्राम पंचायत दोणी वल्ली निवासी एक युवक 18 साल से लापता चल रहा था।

परिजनों द्वारा शुरुवाती दौर में काफी खोजबीन की गई थी लेकिन युवक का कोई सुराग नही मिल पाया, जिससे उसके परिजन काफी परेशान थे।

वर्ष 2013 की भीषण आपदा के बाद तो युवक के परिजनों ने उसके जिंदा होने की आश ही छोड़ दी थी। बेटे के लापता होने के गम में पहले युवक के पिता का देहांत हुआ और उसके बाद उसकी माता का स्वर्गवास हो गया। लेकिन 18 वर्ष बाद नया सवेरा फाउंडेशन लखनऊ द्वारा लापता जयबीर सिंह को उसके परिजनों के सुपुर्द किया गया।

नया सवेरा फाउंडेशन लखनऊ की मदद से 18 साल से लापता युवक जयबीर सिंह पुत्र स्व0 रणबीर सिंह निवासी दोणी वल्ली आखिर घर पंहुच गया बेटे के गांव पंहुचते ही परिजनों के छलके खुशी के आंसू।

i

नया सवेरा फाउंडेशन लखनऊ की टीम के सदस्य आशीष द्विवेदी एवं अंकित पाण्डेय ने बताया कि लापता जयबीर सिंह उन्हें लखनऊ के अहमामऊ के पास गंभीर हालात में उन्हें मिला जिसके बाद वह उसे संस्था में ले गये लेकिन जयबीर अपने गांव जिले का नाम तक नही बता पा रहा था जिसके बाद उसकी मेडिकल जांच करायी गयी तो जयबीर सिंह सिजोफ्रेनिया नामक बीमारी से ग्रसित था जिसके बाद उसका इलाज कराने के साथ ही उसे योगासन भी करवाया गया जयबीर सिंह की हालत में सुधार होने के बाद संस्था द्वारा उत्तराखंड की सामाजिक संस्था के अध्यक्ष सुमन सिंह रावत से संपर्क करने के बाद जयबीर के गांव का पता लग पाया और तब उसके परिजनों से संपर्क करने के बाद संस्था के सदस्य आशीष द्विवेदी एवं अंकित पाण्डेय द्वारा जयबीर सिंह को उसके दादा प्रेम सिंह राणा एवं ताऊ बलबीर सिंह राणा के सुपुर्द किया गया।
संस्था के इस नेक काम करने पर ग्राम प्रधान मानवेन्द्र सिंह राणा सदस्य क्षेत्र पंचायत, विमला नेगी पूर्व प्रधान, भुमा देवी आदि लोगों ने संस्था का आभार प्रकट किया।