ब्रेकिंग:- देवभूमि के लिए ऐतिहासिक पल, उत्तराखंड को मिला 38वें राष्ट्रीय खेलो की मेजबानी का आईओए ध्वज, खेल मंत्री रेखा आर्या ने किया अभिनंदन, कहा बाबा केदार की है कृपा।

उत्तराखंड खेल देश देहरादून ब्रेकिंग न्यूज

देवभूमि के लिए ऐतिहासिक पल और गौरवशाली क्षण, राज्य स्थापना दिवस पर हुआ हर उत्तराखंडवासी गौरवान्वित-रेखा आर्या

उत्तराखंड में करेंगे दिव्य और भव्य 38वें राष्ट्रीय खेलों का आयोजन-रेखा आर्या

देवभूमि से खेलभूमि बनने की और अग्रसर है राज्य-रेखा आर्या

राज्य स्थापना दिवस पर खेल मंत्री रेखा आर्या ने दी राज्य वासियों को बधाई,कहा अपनी स्वर्ण जयंती पर राज्य बनेगा सर्वश्रेष्ठ प्रदेश-रेखा आर्या

उत्तराखंड को मिला आईओए का ध्वज,खेल मंत्री रेखा आर्या ने किया अभिनंदन, कहा बाबा केदार की है कृपा

देहरादून:- गोवा में समाप्त हुए राष्ट्रीय खेल के पश्चात आज उत्तराखंड की खेल मंत्री रेखा आर्या ने आईओए का अधिकृत ध्वज को ग्रहण किया। आईओए के अधिकृत अधिकारियों ने यह ध्वज खेल मंत्री को सौंपा।

बता दे कि यह ध्वज गोवा में चल रहे 37 वें राष्ट्रीय खेलों के समापन अवसर पर आज नौ नवंबर को उत्तराखंड की खेल मंत्री रेखा आर्या के सुपुर्द किया गया है, दरसअल जो भी राज्य राष्ट्रीय खेल का आयोजन करता है तो वह राज्य अगले साल आयोजित करने वाले राज्य को ध्वज सौंपता है।

i

वहीं इससे पहले खेल मंत्री रेखा आर्या ने सभी प्रदेशवासियों को राज्य स्थापना दिवस की शुभकामनाएं व बधाई दी। उन्होंने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में उत्तराखण्ड अग्रणी राज्य बनेगा और यहां की जनभावनाओं के अनुरूप काम भी करेगा।

इस अवसर पर खेल मंत्री ने कहा कि यह बेहद ही खुशी की बात है कि जब हम अपना राज्य स्थापना दिवस मना रहे है उसी दिन हमे यह सम्मान प्राप्त करने का सुअवसर मिला है।कहा कि 38 वें राष्ट्रीय खेल हमारे राज्य में होने जा रहे है ।जिसके लिए हम पूरी तरह से तैयार है।कहा कि अपने गोवा भ्रमण के दौरान उन्होंने यहां की अवस्थापना व्यवस्थाओं को देखा। खेल मंत्री ने राज्य को राष्ट्रीय खेलों के आयोजन की जिम्मेदारी मिलने के लिए केंद्र सरकार का आभार जताया। उन्होंने कहा कि राज्य के यह उपलब्धि सीएम पुष्कर सिंह धामी के प्रयासों से ही मिल पाई है।

साथ ही कहा कि हमारे राज्य को 38 वे राष्ट्रीय खेलो की मेजबानी मिलना सुखद है।हम इसे भव्य तरह से आयोजित करेंगे।उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि हम देवभूमि को खेल भूमि बनाये जिसके लिए सरकार लगातार काम कर रही है।आज खेल और खिलाड़ियो के लिए कई योजनाओं को चलाया जा रहा है जिनके माध्यम से हमारे खिलाड़ी आगे बढ़ रहे हैं।