टिहरी:- जिलाधिकारी के निर्देशन में जनता मिलन कार्यक्रम में 34 शिकायतें/अनुरोध पत्र किए गए दर्ज।

उत्तराखंड टिहरी गढ़वाल ब्रेकिंग न्यूज

टिहरी गढ़वाल:- जनता मिलन कार्यक्रम में सोमवार को 34 शिकायतें/अनुरोध पत्र दर्ज किये गये। जिलाधिकारी के निर्देशन में एसडीएम प्रतापनगर आशिमा गोयल और एसडीएम टिहरी संदीप कुमार द्वारा संयुक्त रूप से जनता की समस्याओं को सुना गया। इस मौके पर दर्ज जन शिकायतें पुनर्वास, लोक निर्माण विभाग, समाज कल्याण, विद्युत, जल संस्थान, बाल विकास, एसएलएओ, कृषि आदि विभागों से संबंधित रही।

उपजिलाधिकारी टिहरी ने कहा कि सुशासन के दृष्टिगत जन संवाद तथा जन समस्याआंे के समाधान की व्यवस्था को सुदृढ किये जाने हेतु तहसील दिवस एवं जन सुनवाई दिवस में आम जन मानस/फरियादियों से प्राप्त प्रार्थना पत्रों को मा. मुख्यमंत्री जन समर्पण पोर्टल पर अपलोड कर 14 दिवस के भीतर ऑनलाइन निस्तारित कर अपलोड किया जाना है। इस हेतु जनता दर्शन/जन सुनवाई कार्यक्रम के दौरान फरियादियों से प्रार्थना पत्र (नाम, पता, मोबाइल नम्बर सहित) के साथ आधार कार्ड/वोटर आईडी कार्ड की छायाप्रति प्राप्त की जायेगी। उन्होंने कहा कि पोर्टल पर कार्य सम्पादन हेतु उपजिलाधिकारियों को यूजर आई.डी./पासवार्ड उपलब्ध करायी गयी है, जबकि अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों की सीएम हेल्पलाइन हेतु निर्गत की गयी यूजर आई.डी./पासवर्ड ही पोर्टल पर कार्य सम्पादन हेतु यथावत रहेगी।

अवगत है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 05 नवम्बर, 2023 को तहसील दिवस एवं जन सुनवाई दिवस मंे प्राप्त जन समस्याओं के स्थानीय स्तर पर प्रभावी एवं संतोषजनक निस्तारण एवं अनुश्रवण हेतु तहसील दिवस एवं जन सुनवाई दिवस की सम्पूर्ण प्रक्रिया को मैनुअल से डिजिटल स्वरूप प्रदान करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री जन समर्पण पोर्टल www.cmjs.uk.gov.in का शुभारम्भ किया गया।

i

जिला कलेक्ट्रेट सभागार, नई टिहरी में आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में ग्राम धारकोट के मातवर सिंह परमार ने अलवेदर रोड़ ऋषिकेश-उत्तरकाशी के दौरान उनके मकान को हुई क्षति का प्रतिकर न मिलने की शिकायत की, जिस पर कमांड अधिकारी नागणी टिहरी को संयुक्त रूप से जांच कर आख्या उपलब्ध कराने को कहा गया। ग्राम रौलाकोट प्रतापनगर के आशीष नौटियाल ने पुर्नवास विभाग द्वारा प्रथम चरण की लाटरी प्रकाशन सूची में नाम होने के बावजूद पात्रता पत्रावली प्राप्त न होने के कारण सम्मिलित न करने की शिकायत की, जिस पर अधिशासी अभियन्ता पुनर्वास को जांच कर नियमानुसार कार्यवाही करने को कहा गया। क्षेत्र पंचायत सदस्य लामकोट संगीता पंवार ने गांव में जंगली सुअरों से फसलों को रहे नुकसान के चलते घेरबाड़ की मांग की, प्रकरण पर मुख्य कृषि अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने को कहा गया।

इसके साथ ही ग्राम पंचायत मयकोट में क्षतिग्रस्त बाल विकास भवन हेतु धनराशि देने, ग्राम बौराड़ी में गलत तौर से पंजीकृत विक्रय पत्र सिंचाई विभाग के नाम से निरस्त करने, ग्राम पंचायत नैचोली, मगरौपानी नामे तोक विकास खण्ड चम्बा में ग्राम पंचायत विकास अधिकारी द्वारा प्राकृतिक जलस्रोत के संरक्षण संवर्द्धन निर्माण कार्य में सामग्री देने में टालमटोल करने, ग्राम सभा खान्दी के ग्राम समूह कोट, भड़कोट, खान्दी एवं मरूड़ा में जल जीवन मिशन के तहत बिछाये गये नलों में पेयजल उपलब्ध न होने, अन्त्योदय राशनकार्ड स्थानान्तरण करने, रा.प्रा.वि. चक चौण्ड विकासखण्ड भिलंगना का भवन मरम्मत तथा चार दीवारी करने, पीएम आवास का लाभ देने, दुड़गापुल-ककड मोटर मार्ग पर अनुसूचित जाति बस्ती दुगड्डा में सुरक्षा दीवार लगाने आदि अन्य शिकायतें/मांगें दर्ज की गई, जिनके संबंध में संबंधित विभागों से जानकारी लेते हुए आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित किया गया।

बैठक में डीडीओ सुनील कुमार, विनायक श्रीवास्तव, एसीएमओ एल.डी. सेमवाल, डीएचओ आर.एस. वर्मा, डीएसटीओ साक्षी शर्मा, एएमए जिला पंचायत संजय खण्डूड़ी, मत्स्य अधिकारी गरीमा मिश्रा, सैनिक कल्याण अधिकारी योगेन्द्र कुमार सहित लोनिवि, पीएमजीएसवाई, जल संस्थान, पेयजल, सिंचाई, लघु सिंचाई, विद्युत, पुनर्वास, डेरी विकास, होम्योपैथिक आदि अन्य विभागों के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।