आस्था:- मयकोट गांव की विवाहित बेटियां करवा रही मायके में श्रीमद भागवत महापुराण व श्रीमद देवी भागवत महापुराण का दिव्य आयोजन।

आस्था उत्तराखंड घनसाली टिहरी गढ़वाल ब्रेकिंग न्यूज

मयकोट गांव की ध्याणियां बहा रही मायके में आस्था की गंगा।

चमियाला:- टिहरी जनपद के भिलंगना ब्लॉक स्थित बालगंगा घाटी के ग्राम मयकोट में गांव की विवाहित बेटियों (ध्याणियों) द्वारा मयकोट गांव की आराध्य देवी माहेश्वरी मन्दिर प्रांगण में नौ दिवसीय श्रीमद भागवत महापुराण और श्रीमद देवीभागवत महापुराण ज्ञान यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है।
जिसमे की मयकोट की समस्त विवाहित बेटियां तन-मन-धन से सहयोग कर रही है।

जिसके लिए मयकोट गांव की सभी विवाहित बेटियां देश प्रदेश से आपने मायके पहुंची है।

ग्राम प्रधान वीरपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि नौ दिवसीय दो महापुराणों का आयोजन मयकोट गांव की समस्त विवाहित बहनों और बेटियों के द्वारा किया जा रहा है जिसका शुभारंभ शुक्रवार 07 जून से हो गया है जबकि 15 जून को समापन होगा। जिसमे सुप्रसिद्ध श्रीमद भागवत महापुराण कथावाचक सुशील रतूड़ी शास्त्री जी व श्रीमद देवी भागवत महापुराण कथावाचक वासुदेव भट्ट शास्त्री जी के मुखारबिंद से कथा का वाचन किया जा रहा है जिसका सभी ग्रामवासी व क्षेत्रवासियों द्वारा कथा का रसपान किया जा रहा है।

i

वहीं अध्यक्ष अतुल चंद रमोला ने बताया कि इस तरह के आयोजनों से अपने धर्म और देवी देवताओं के प्रति श्रद्धा बढ़ती है वहीं पलायन से वीरान होते उत्तराखंड में इस तरह के आयोजनों से गांव में चकाचौंध बनी रहती है।

वहीं कार्यक्रम में ग्राम प्रधान बीरपाल बिष्ट, अतुल चंद्र रमोला व रजनी रांगड़, रजनी भंडारी, उषा नेगी, संगीता नेगी, डबली देवी आदि ध्याणियों सहित के क्षेत्रवासी व ग्रामवासी मौजूद रहे