ब्रेकिंग:- घनसाली विधानसभा में धूम-धाम से मनाया गया राज्य स्थापना दिवस, समारोह में बडोनी जी की स्मृति बनाने की मांग जोरों से उठी।

उत्तराखंड टिहरी गढ़वाल ब्रेकिंग न्यूज

घनसाली:- 9 नवम्बर को घनसाली तहसील अंतर्गत राज्य स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर तहसील सभागार में उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों को तहसील और विकासखंड स्तर के अधिकारियों के द्वारा माल्यार्पण एवं सॉल भेंट कर सम्मानित किया गया।
सम्मान समारोह के अवसर पर राज्य सरकार की ओर से जिला प्रशासन के प्रतिनिधि उपजिलाधिकारी के .एन . गोस्वामी , तहसीलदार महेशा शाह, खण्ड विकास अधिकारी सतीश बडोनी, सहित तहसील अंतर्गत विभिन्न अधिकारियों के द्वारा आंदोलनकारियों को सम्मानित किया गया।
सम्मान समारोह के विशिष्ट अतिथि के तौर पर अध्यक्ष नगर पंचायत शंकरपाल सजवाण ने राज्य आंदोलनकारियों के संघर्ष को याद करते हुए कहा कि राज्य आंदोलनकारियों की बदौलत ही उत्तराखंड राज्य का निर्माण हुआ है और उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकेगा।

i

वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उपजिलाधिकारी के.एन .गोस्वामी ने राज्य आंदोलनकारियों के संघर्ष को स्वतंत्रता के संघर्ष की गाथा की तरह याद करते हुए कहा वे स्वयं स्वतंत्रता आंदोलनकारी के साथ राज्य आंदोलन के परिवार और समाज से जुड़े ब्यक्ति हैं जो आंदोलनकारियों की समस्याओं के संघर्ष को बखूबी जानते हैं।उपजिलाधिकारी ने आंदोलनकारियों की तहसील स्तर की समस्याओं का समाधान करने का भरोसा दिलाते हुए बडोनी जी व अन्य आंदोलनकारियों के स्मारक हेतु भूमि उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया।
राज्य आंदोलनकारी नरेंद्र डंगवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि आंदोलनकारी एवं उनके आश्रितो को राज्य सरकार की नौकरियों में 10% क्षैतिज आरक्षण का बिल राज्य सरकार के द्वारा लाया जा रहा है जिससे आंदोलनकारियों के आश्रितों को निकट भविष्य में लाभ पहुंचेगा।
वहीं दूसरी ओर वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी एडवोकेट लोकेंद्र जोशी ने पहाड़ के गांधी की स्मृति में सांस्कृतिक भवन एवं शहीद स्मारक की मांग उठाई तथा राज्य आंदोलनकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि हमे राज्य की जनता के हित में किसी भी संघर्ष के लिए तैयार रहना होगा ।
राज्य आंदोलनकारी स्वरूप जोशी ने 1994 के आंदोलन की याद करते हुए कहा कि चम्पावत मे रहते हुए मुझे 17 वर्ष की आयु मे पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर 1 महीने का कारावास में रखा। उन्होंने बडोनी जी की स्मृति में जगह जगह पुस्तकालय की स्थापना की मांग की।
सम्मान समारोह का संचालन करते हुए उत्तराखंड मिनिस्ट्रियल कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष केशव ग़ैरोला ने संचालन करते हुए कहा कि हमे बडोनी जी जैसे उच्च आदर्शों के व्यक्ति की जन्म स्थली में कार्य करने का सौभाग्य मिला है। उन्होंने बडोनी जी की स्मृति में संग्रहालय व स्मारक की स्थापना की मांग की तथा राज्य आंदोलन में राज्य कर्मचारियों की भूमिका को नमन किया। ।
वहीं नगर पंचायत अध्यक्ष शंकरपाल सजवाण ने आंदोलनकारियों को भरोसा दिलाया कि शहीद स्मारक और बडोनी जी की स्मृति में उनका स्मारक हेतु जगह का चयन कर शीघ्र निर्माण किया जाएगा। जिस पर उपजिलाधिकारी गोस्वामी ने पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।
समारोह में नगर पंचायत अध्यक्ष शंकर पाल सजवाण, उपजिलाधिकारी के. एन. गोस्वामी, तहसीलदार महेसा शाह, खण्ड विकास अधिकारी सतीश बडोनी, राजेंद्र अवस्थी बी.डी.ओ., नौटियाल रेंजर भिलंगना, चौहान रेंजर बालगंगा, दुर्गापाल मोलफा पशु चिकित्सा अधिकारी घनसाली, सुखपाल सिंह मान थानाध्यक्ष घनसाली, वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी पूर्व प्रधान बसंत लाल, एडवोकेट लोकेंद्र जोशी, डॉ.नरेंद्र डंगवाल, राजेंद्र सिंह भंडारी, अब्बल सिंह रावत, देवेंद्र बसलियाल, एडवोकेट पुरुषोत्तम सिंह बिष्ट, उतम चंद, सुरेशगिरी गोस्वामी, राय चंद सिंह राणा, नत्थी लाल रतूड़ी, स्वरूप जोशी, केशव ग़ैरोला, रणवीर रावत सहित पत्रकार बंधु एवं बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।