ब्रेकिंग:- कार्यदाई संस्था की मनमानी के चलते व्यापारियों ने फिर रुकवाया घनसाली बस अड्डे का कार्य, जनता की सुविधा के मुताबिक कार्य न होने पर दी आंदोलन की चेतावनी

उत्तराखंड टिहरी गढ़वाल ब्रेकिंग न्यूज

रिपोर्ट:- दीपक श्रीयाल,घनसाली

i

घनसाली:- भिलंगना विकासखंड का मुख्य बजार घनसाली में निर्माणाधीन बस अड्डे के निर्माण में कार्यदाई संस्था अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहा है जिसका व्यापारियों ने विरोध कर मनमाने ढंग से हो रहे कार्य को रुकवा दिया है। साथ ही जनता के मुताबिक कार्य न होने पर आंदोलन कर न्यायालय की शरण में जाने की चेतवानी दी हैं।
आपको बता दें कि मुख्य बजार घनसाली में निर्माणाधीन बस अड्डे के निर्माण में कार्यदाई संस्था के द्वारा मनमाने ढंग से किए जा रहे कार्य के कारण बसअड्डे का निर्माण कार्य लगातार विवादों में घिर रहा हैं। कार्यदाई संस्था मंडी परिषद के द्वारा लोनिवि की सड़क पर दीवार लगाने का मामला हो या फिर बाजार के पास डंपिंग जोन में नियम कानूनों को ताक पर रख कर मलवा डालने का मामला हो, कार्यदाई संस्था के कर्मचारियों की मनमानी से परेशान व्यापार मंडल के लोगो ने एसडीएम के समक्ष अपनी समस्या रखते हुए उक्त कार्य को जनता की सुविधा के अनुसार करवाने की मांग कर ज्ञापन दिया है।
व्यापार मंडल अध्यक्ष नरेंद्र डंगवाल ने कहा कि बस अड्डा निर्माण में मंडी परिषद के कर्मचारियों के द्वारा मनमाने ढंग से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने अपनी तीन सूत्रीय मांगो को रखते हुए कहा कि जिस जगह पर कार्यदाई संस्था द्वारा यात्री सेट, टिकट खिड़की और शौचालय का निर्माण किया जा रहा है वह गदरे के सामने है। जिससे भविष्य में बाढ़ आने के कारण कभी भी कोई जनहानि हो सकती है। लिहाजा उक्त निर्माण को पीएनबी की तरफ किया जाय, साथ ही यात्री सेट को छोटा बनाया जाय जिससे बस अड्डे पर अधिक से अधिक जगह वाहनों के खड़े होने के लिए मिल सके और टिकट खिड़की, वॉशरूम को पीएनबी बैंक की तरफ पीछे की ओर किया जाय जिससे भविष्य में व्यापारियों को बदबू से परेशानी न हों व्यापारियों ने चेतवानी देते हुए कहा कि यदि बस अड्डे का निर्माण जन भावनाओं और सुविधाओं के मुताबिक नहीं किया जाता है तो ब्यपारियों को न्यायलय की शरण में जाने के लिए मजबुर होना पड़ेगा।
ज्ञापन देने वालो में पवन राणा, कैलाश बडोनी, चतर सिंह रमोला,विजय सिंह कुमाई, ओमप्रकाश भुजवान, गंगा सिंह,यशपाल पंवार, आदि लोग मौजूद थे।
वहीं इस मामले में एसडीएम केएन गोस्वामी ने बताया कि व्यापार मंडल के द्वारा कुछ बिंदु रखे गए है जिन को पत्र बना कर कार्यदाई संस्था को भेज दिया गया हैं।