बड़ी खबर:- मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात कमांडो ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या।

उत्तराखंड देहरादून ब्रेकिंग न्यूज

देहरादून:- मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात कमांडों ने बैरक में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली है।  सूचना मिलते ही एसएसपी, एसपी सिटी व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार आज दोपहर कैण्ट कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि मुख्यमंत्री आवास में तैनात कमांडों ने अपनी बैरेक में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

सूचना मिलते ही कैण्ट कोतवाली पुलिस ने उच्चाधिकारियों को इसकी जानकारी दी। मुख्यमंत्री आवास पर तैनात कंमाडों की आत्महत्या किये जाने की खबर मिलते ही आईजी गढवाल रेंज करनसिंह नगन्याल, डीआईजी/एसएसपी दलीप सिंह कुंवर, एसपी सिटी सरिता डोभाल, सीओ डालनवाला अभिनव चौधरी मौके पर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और आसपास के लोगों से पूछताछ की।

i

पुलिस के अनुसार मृतक का नाम पौड़ी गढ़वाल निवासी प्रमोद रावत है जो यहां मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात था। बताया जा रहा है कि वह 40वी वाहिनी पीएसी का सिपाही था तथा 2016 से मुख्यमंत्री आवास में तैनात था। पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण कर पाया कि मृतक ने अपने ही हथियार से गोली मारकर आत्महत्या की है। वह यहीं सीएम आवास में ही बैरेक में रहता था। सूत्रों के अनुसार प्रमोद के परिवार में 16 जून से भागवत कथा थी जिसके लिए उन्होंने छुट्टी के लिए आवेदन किया था व छुट्टी भी मंजूर हो गयी थी। पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के पश्चात शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है एवं मृतक के परिजनों को घटना की सूचना दे दी है। मुख्यमंत्री के कमांडों के द्वारा आत्महत्या किये जाने की सूचना से क्षेत्र में सनसनी फैल गयी है। अन्य बैरकों में रहने वाले कर्मचारी भी वहां पर पहुंच गये थे।

वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए फॉरेंसिक टीम से जुड़े अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं। इस पूरे मामले पर जानकारी साझा करते हुए एडीजी अभिनव कुमार ने बताया कि मौत के कारणों का पता पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और फॉरेंसिक जांच के बाद ही लग पाएगा। हालांकि, एडीजी अभिनव कुमार ने ये आशंका भी जताई है कि ये आत्महत्या के अलावा एक्सीडेंटल डेथ का मामला भी हो सकता है। यानी कमांडो ने आत्महत्या की है या फिर गलती से गोली लगी है, इसकी जांच जारी है।